सालों बाद बताई नीना गुप्ता ने डायरेक्टर सुभाष घई की सच्चाई, कहा – मेरे छोटे बू’ब्स की वजह से परेशान हो कर उन्होंने….

सालों बाद बताई नीना गुप्ता ने डायरेक्टर सुभाष घई की सच्चाई, कहा – मेरे छोटे बू’ब्स की वजह से परेशान हो कर उन्होंने….

बॉलीवुड में बड़ी देर से प्रसिध्दि कमाने वाले दिग्गज अभिनेत्री नीना गुप्ता आज किसी पहचान की मोहताज नहीं है। अपने बेहतरीन अभिनय के दम पर आज सबकी पहचान बन चुकी नीना ने यह साबित कर दिया कि अगर लगन हो तो सफलता मिल ही जाती है। अपने अभिनय से क्रिटिक्स का भी दिल जीत लेने वाली नीना गुप्ता की निजी जिंदगी भी किसी फिल्म से कम नहीं है। उनके जीवन में काफी उतार चढ़ाव आये, और इन्ही उतार चढ़ाव पर उन्होंने अपनी एक ऑटोबायोग्राफी भी लिखी है जो इन दिनों काफी सुर्खियों में है। इस बायोग्राफी से उनके जीवन के कई राज़ खुल रहे हैं, इस किताब में उन्होंने अपने पर्सनल लाइफ से ले कर प्रोफेशनल लाइफ तक की हर छोटी बड़ी बात लिखी।

अपनी इसी ऑटोबायोग्राफी में उन्होंने एक किस्सा सुभाष घई से जुड़ा हुआ भी लिखा, अपने इस किस्से के बारे में बताते हुए नीना गुप्ता ने लिखा कि यह उनके जीवन की शर्मिंदगीयों में शुमार है। दरअसल फ़िल्म खलनायक का बहुत ही मशहूर गाना चोली के पीछे का फिल्मांकन करने के दौरान उन्हें पेडेड ब्रा पहनने को कहा गया था। नीना बताती हैं कि जब उन्होंने इस गाने को सुना तो इस गाने ने उन्हें काफी प्रभावित किया। हालांकि जब सुभाष घई ने इस गाने में उनके रोल के बारे में जानकारी दी तो उनका पूरा इंटरेस्ट ही खत्म सा हो गया।

नीना अपनी किताब में लिखती हैं कि उन्हें इस बात की खुशी थी कि गाने में उनके हिस्से को उनकी ख़ास दोस्त इला अरुण गा रही थी। नीना बताती हैं कि इला उनकी बेहद अच्छी दोस्त है और वे उनके साथ कई फिल्मों में काम भी कर चुकी हैं। इस गाने के लिए उन्हें ख़ासतौर पर आदिवासी गुजराती समाज के कपड़ें पहनाए गए और फिर फोटों खींच कर सुभाष घई के पास पहुंचाए गए।

नीना लिखती हैं कि फोटो देंखने के बाद सुभाष घई ने चिल्लाते हुए कहा ‘नहीं नहीं नहीं, कुछ भरो।’ नीना लिखती हैं कि सुभाष घई के मुंह से यह बात सुन कर वे सकपका गई और उन्हें काफी शर्म भी आई। नीना के अनुसार सुभाष घई यहां उनकी चोली के बारे में बात कर रहे थे। नीना लिखती हैं कि इसमें कुछ व्यक्तिगत नहीं है क्योंकि एक डायरेक्टर होने के नाते उन्होंने इस गाने को ले कर कुछ सोच रखा था। उस दिन इस गाने का इस वजह से शूट भी नहीं हो पाया।

नीना गुप्ता अपनी किताब में लिखती हैं कि अगले दिन उनको एक दूसरे आउट फिट में तैयार किया गया, और फिर सुभाष घई के सामने पेश किया गया। नीना ने बताया कि इस बार उन्हें एक ऐसी ब्रा पहनाई गई जिसमें हेवी पैड लगाए गए थे। इसके बाद उनका यह वाला लुक फाइनल कर लिया गया। नीना बताती हैं कि सुभाष घई को पता होता है कि उन्हें क्या चाहिये और इसको ले कर वे बिल्कुल भी कोम्प्रोमाईज़ नहीं करते हैं। यही वजह है कि वे बॉलीवुड के सफलतम डायरेक्टर की लिस्ट में शुमार है।

गौरतलब है कि फिल्म खलनायक का ये गाना (चोली के पीछे) जबरदस्त सफल साबित हुआ था। ये गाना माधुरी दीक्षित पर फिल्माया गया था, इस गाने में उनके साथ नीना गुप्ता भी नजर आई थीं। फिल्म में संजय दत्त और जैकी श्रॉफ भी मुख्य भूमिका निभा रहे थे।

मनोरंजन